After 12th : मेडिकल फील्ड के ये हैं पॉपुलर कोर्स

नई दिल्ली: हेल्थकेयर सेक्टर तेजी से बढ़ता सेक्टर है और कोरोना वायरस जैसी महामारी के बाद इस फील्ड में स्पेशलिस्ट कर्मचारियों की डिमांड और ज्यादा बढ़ी है। मेडिकल फील्ड से जुड़े कोर्सेज की डिमांड हर साल बढ़ रही है। यहां हम आपको उन पॉपुलर कोर्सेज की जानकारी दे रहे हैं जिन्हे आप 12वीं के बाद कर सकते हैं…

MBBS- इस कोर्स की डिमांड सबसे ज्यादा रहती है इस कोर्स में मेडिसिन और सर्जरी में बैचलर डिग्री दी जाती है। MBBS कोर्स में दाखिले के लिए नीट परीक्षा को पास करना होता है। यह 5 वर्षीय कोर्स है नीट परीक्षा पास करने के बाद सफल आवेदकों को देश में स्थित विभिन्न मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिलता है।

BAMS- यह भी डॉक्टरी कोर्स होता है लेकिन इस कोर्स में मुख्य रूप से आयुर्वेदिक दवाइयों की पढ़ाई होती है। यह भी एक पांच वर्षीय कोर्स होता है जिसमें 1 साल इंटर्नशिप करनी जरूरी है।

देश, दुनिया और अपनी आस पास की ख़बरों के लिए यहां Click करें…

BHMS- बैचलर ऑफ होम्योपैथी मेडिसिन एंड सर्जरी कोर्स 5.5 वर्ष का होता है इसमें भी एक साल की इंटर्नशिप करनी जरूरी होती है। इस कोर्स के लिए 12वीं के बाद आवेदन किया जा सकता है। होम्योपैथी कोर्स करने के बाद आप अपना खुद का क्लिनिक खोल सकते हैं।

BDS- बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी का कोर्स भी काफी डिमांड में रहता है यह कोर्स भी 5 साल का होता है। इस कोर्स में दाखिले के लिए नीट परीक्षा देनी होती है। इस कोर्स को डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया आयोजित करती है।

B.VSc- यह भी 5 वर्षीय कोर्स है है जिसमें जानवरों की दवाइयां और उनसे जुड़ी बिमारियों की पढ़ाई होती है। B.VSc कोर्स करने के बाद आप अपना जानवरों से जुड़ा क्लिनिक खोल सकते हैं।

देश, दुनिया और अपनी आस पास की ख़बरों के लिए यहां Click करें…

इसके अलावा मेडिकल फील्ड से जुड़े कई कोर्स ऐसे हैं जिनके लिए नीट परीक्षा की जरुरत नहीं पड़ती। नीचे हम ऐसे ही कोर्सेज की लिस्ट दे रहे हैं…

  • बैचलर ऑफ रेस्पायरेटरी थेरेपी
  • बैचलर इन साइकॉलजी
  • बैचलर ऑफ साइंस इन बायोटेक्नोलॉजी
  • बैचलर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी
  • बीटेक इन बायोमेडिकल इंजीनियरिंग
  • बैचलर ऑफ साइंस इन माइक्रोबायोलॉजी
  • बैचलर ऑफ साइंस इन कार्डिएक टेक्नोलॉजी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *